भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) चंडीगढ़ ने राज्य स्तरीय कार्यशाला का आयोजन किया।

आधार के उपयोग को सरल बनाने हेतु हाल में की गई पहलको बढ़ावा देने के प्रयास के रूप में, भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) चंडीगढ़ क्षेत्रीय कार्यालय ने सूचना प्रौद्योगिकी विभाग, हिमाचल प्रदेश सरकार के सहयोग से हिमाचल प्रदेश राज्य के लिए 29 जुलाई,2022 को एक राज्य स्तरीय कार्यशाला का आयोजन किया।  कार्यशाला की अध्यक्षता श्री. आर डी धीमान, आईएएस मुख्य सचिव हिमाचल प्रदेश द्वारा की गयी

कार्यशाला के पांच सत्रों में आधार की विशेषताएं, आधार के उपयोग पर प्रमुख विकास, हिमाचल प्रदेश राज्य के सर्वोत्तम अभ्यास, आधार प्रमाणीकरण और शिकायत निवारण तंत्र, डेटा गोपनीयता और सूचना सुरक्षा पर विचारविमर्श किया गया। भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम ने प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण और आधार सक्षम भुगतान प्रणाली पर एक प्रस्तुति दी।साथ ही एमआधार ऐप, आधार ऑनलाइन सेवाओं और निवासियों के लिए आधार पंजीकरण एवं अपडेट सेवाओं को सुगम बनाने के लिए यूआईडीएआई द्वारा किए गए प्रयासों  विस्तार से बताया गया.

इस अवसर पर भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण, क्षेत्रीय कार्यालय, चंडीगढ़ की उप महानिदेशक, श्रीमती भावना गर्ग ने बताया कि आधार  कैसे भारत के डिजिटल सार्वजनिक बुनियादी ढांचे का मूल बन गया है। आधार विशिष्टता, प्रमाणीकरण, वित्तीय पता और e-KYC की अपनी अंतर्निहित विशेषताओं के कारण सरकारी अधिकारियों को सीधे निवासियों तक पहुंचने में मदद की है जिससे निवासियों तक विभिन्न सब्सिडी, लाभ और सेवाओं  का वितरण किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि काफी कम लागत में आधार कभी भी, कहीं भी ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही तरीकों से सत्यापन योग्य है।

श्री प्रेम नारायण, उप महानिदेशक भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण ने बताया कि कैसे यूआईडीएआई ने आधार से संबंधित निवासियों की शिकायतों के निवारण के लिए कई शिकायत निवारण चैनल तैयार किए हैं I

सुश्री सोफिया दहिया ने  पात्रता आधारित लाभों के लिए परिवार पहचान पत्र की अवधारणा के बारे में बताया।

डॉ रजनीश ने हिमाचल प्रदेश राज्य में  आधार पारिस्थितिकी तंत्र प्रस्तुत किया, जबकि श्री के सी चमन ने राज्य सार्वजनिक वितरण प्रणाली में ईकेवाईसी कार्यान्वयन के बारे में बताया।

इस अवसर पर  श्री आर डी धीमान ने इस  व्यापक और सूचनात्मक कार्यशाला के आयोजन के लिए यूआईडीएआई को धन्यवाद दिया। उन्होंने आशा व्यक्त की कि इस आयोजन से प्रतिभागियों को लाभ होगा और इससे राज्य के निवासियों के जीवन को सरल बनाने के लिए तरीका  खोजने में मदद मिलेगी I

 

कार्यशाला में मुख्य रूप से हिमाचल प्रदेश राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों में श्री ओंकार चंद शर्मा, डॉ रजनीशश्री अक्षय सूद, श्री अमिताभ अवस्थी, श्री राकेश कंवर और श्री संदीप कुमार के अतिरिक्त यूआईडीएआई ,बैंकों, बीएसएनएल, डाक विभाग और राष्ट्रीय सूचना केंद्र (NIC) के 100 से अधिक वरिष्ठ अधिकारियों ने हिस्सेदारी की।