देव कमरुनाग झील में चोरी! आधी रात को हथियारों सहित आए लुटेरे…चौकीदारों को बनाया बंधक।

जनपद के अराध्य माने जाने वाले बड़ा देव कमरूनाग की पवित्र झील में एक बार फिर से चोरों ने सेंधमारी की है। चोरों की हरकत सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है, लेकिन वीडियो में यह स्पष्ट नहीं दिखाई दे रहा कि झील से क्या चुराया गया है। घटना बीते सोमवार रात की बताई जा रही है।

मिली जानकारी के अनुसार सोमवार देर रात को कुछ लोग मुखौटे लगाकर और लाठी-डंडों व हथियारों के साथ झील परिसर के पास आए और जिन कमरों में चौकीदार सोए हुए थे, उन्हें बाहर से बंद कर दिया। वहीं, झील परिसर के पास ढाबा चलाने वालों को भी दराट दिखाकर चुप रहने को कहा। इसके बाद ये लोग झील में घुसे और काफी देर बाद बाहर आकर वहां से फरार हो गए। हालांकि मंदिर परिसर में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं लेकिन अधिकतर कैमरे खराब बताए जा रहे हैं। एक कैमरे में जो वीडियो रिकॉर्ड हुआ है, उसमें भी कुछ स्पष्ट पता नहीं चल पा रहा है।

देवता कमेटी ने अभी तक दर्ज नहीं करवाई शिकायत
वहीं, देव कमरूनाग मंदिर कमेटी ने अभी तक इस मामले को लेकर पुलिस में कोई शिकायत दर्ज नहीं करवाई है। देव कमरूनाग के कटवाल काहन सिंह से जब इस बारे में बात की गई तो उन्होंने चौंकाने वाला खुलासा कर दिया। उन्होंने बताया कि देव कमरूनाग झील में हर वर्ष चोरी होती है। कुछ लोग बरसात और सर्दियों के दिनों में मुखौटे पहनकर यहां आते हैं और चोरी की वारदात को अंजाम देकर चले जाते हैं। चोरी की यह घटनाएं सदियों से होती आ रही हैं। कई बार पुलिस के साथ यहां पहरा भी बैठाया, लेकिन जिस दिन पहरा बैठाया जाता है, उस दिन चोर आते ही नहीं हैं। हमनें जो चौकीदार रखें हैं उन्हें हर बार बंधक बना लिया जाता है। इसलिए अब हमनें पुलिस को शिकायत देना ही बंद कर दिया है। वहीं, थाना प्रभारी गोहर निर्मल सिंह राणा ने बताया कि उन्हें इस बारे में अभी तक कोई शिकायत प्राप्त नहीं हुई है। यदि शिकायत मिलती है तो फिर कार्रवाई की जाएगी।