ऊना जिला के इंदिरा मैदान में आयोजित सेना भर्ती के अंतिम दिन वायरल हुए एक वीडियो ने सेना भर्ती प्रक्रिया पर सवालिया निशान लगा दिए थे। वीडियो वायरल होने के बाद सेना के अधिकारी तुरंत हरकत में आये और मामले की जांच में जुट गए। मामले की जांच करते हुए सेना के अधिकारीयों ने भर्ती स्थल पर लगे सीसीटीवी फुटेज को

खंगाला जिसमें खुलासा हुआ कि दो युवक भर्ती के लिए दौड़ में शामिल हुए लेकिन अंधेरे का फायदा उठाते हुए दोनों युवक पहले चक्कर के बीच में ही दौड़ से निकल कर साइड में खड़े हो गए और जैसे ही दौड़ का अंतिम चक्कर उनके नजदीक पहुंचा तो दोनों युवक फिर से दौड़ में शामिल हो गए।

सेना अधिकारी ने दावा किया कि युवकों की इस हरकत को सेना के मार्शल ने देख लिया था और तुरंत इसकी जानकारी भर्ती निदेशक को दे दी थी। जिसके बाद इन दोनों युवाओं की पहचान करके इनसे पूछताश की गई। हमीरपुर भर्ती कार्यालय के निदेशक कर्नल सतीश कुमार ने बताया कि दोनों युवकों ने अपना जुर्म कबूल कर

लिया है और उन्होंने माना है कि उन्होंने यह गलती सेना में भर्ती होने के लिए ही की है। वहीं सेना अधिकारी ने कहा कि दोनों युवकों के भविष्य को देखते हुए सेना द्वारा कोई क़ानूनी कार्रवाई नहीं की जाएगी। सेना अधिकारी की माने तो युवकों ने पूछताश में माना है कि सेना के किसी भी कर्मी ने उनकी इस हरकत में मदद नहीं की है।

Leave a Reply