पंजाब के पठानकोट में बुधवार को एक युवक की ट्रेन से कटकर मौत का मामला सामने आया है। पता चला है कि उत्तर प्रदेश का यह युवक माता वैष्णो देवी के दर्शन के लिए जा रहा था। अचानक जैसे ही ट्रेन की गति धीमी हुई तो झटके से उसका मोबाइल फोन नीचे गिर गया। उसे उठाने की जुगत में युवक की जान ही चली गई। बहरहाल गवर्नमेंट रेलवे पुलिस (GRP) ने पोस्टमॉर्टम के बाद युवक का शव परिचितों को सौंप दिया है। दैनिक भास्कर की अपील है कि हम इस घटना से सीख लें। जब भी कोई कहीं सफर करे तो ट्रेन के दरवाजे पर खड़े न हों।

युवक की पहचान 25 वर्षीय प्रशांत कुमार पुछवाहा के रूप में हुई है। वह उत्‍तर प्रदेश के कानपुर जिले के कल्‍याणपुर थाना क्षेत्र के गांव रावतपुर का रहने वाला था। पता चला है कि प्रशांत कुमार अपने 12 दोस्तों के साथ माता वैष्णो देवी के दर्शन के लिए संबलपुर एक्सप्रेस से जम्मू जा रहा था। वह मोबाइल फोन लेकर ट्रेन के दरवाजे के पास खड़ा था।

ट्रेन पठानकोट कैंट स्टेशन पर पहुंचने वाली थी, जिस कारण गति कुछ कम थी। इसी बीच प्रशांत का मोबाइल फोन उसके हाथ से नीचे गिर गया। ट्रेन की गति कम होने के कारण वह सीढ़ियों से नीचे उतर मोबाइल पकड़ने की कोशिश करने लगा तो उसका पैर सीढ़ियों में फंस गया। ट्रेन की चपेट में आने से प्रशांत की दोनों टांगें और एक बाजू कट गई।

हमीरपुर ब्रेकिंग -पेड़ से लटकी मिली सड़ी हुई लाश, दहशत में…

पठानकोट कैंट की GRP चौकी की टीम ने गंभीर हालत में प्रशांत को निजी अस्पताल में दाखिल करवाया। वहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। चौकी प्रभारी ASI पलविंद्र सिंह ने बताया कि पठानकोट के सिविल अस्पताल में पोस्टमॉर्टम के बाद शव परिचितों को सौंप दिया गया है।