पशुओं का चारा लेने गई महिला की जंगल में आग से जलकर मौत

हिमाचल प्रदेश के नालागढ़ में पशुओं के लिए चारा लेने गई एक महिला की जंगल में लगी आग की चपेट में आने से मौत हो गई है। महिला मितियां पंचायत के मैथल गांव की रहने वाली थी। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद महिला का शव परिजनों को सौंप दिया है।

बताया जा रहा है कि शकुंतला देवी (53) पत्नी महेंद्र सिंह मंगलवार सुबह 8:00 बजे पशुओं के लिए चारा लेने गई थी। जंगल में पहले से आग लगी थी, लेकिन वह काफी दूर थी। अचानक आग तेजी से चारों ओर फैल गई, जिसका शकुंतला को पता नहीं चला। उन्होंने भागने की कोशिश की लेकिन एक बांस के झुंड में फंस गईं। कई घंटों तक शकुंतला घर नहीं लौटीं तो परिजनों ने खोज शुरू की। सूचना मिलते ही अग्निशमन विभाग नालागढ़ की टीम भी मौके पर पहुंची।

अग्निशमन अधिकारी जयपाल ठाकुर ने बताया कि जब तक वह मौके पर पहुंचे, महिला की मौत हो चुकी थी। उन्होंने कहा कि मौके पर पहुंचकर आग पर काबू पा लिया गया है। तहसीलदार ऋषभ शर्मा ने बताया कि संबंधित पटवारी को मौके पर भेज कर मृतक महिला के परिजनों को 10,000 रुपये की फौरी राहत दी गई है। डीएसपी नवदीप सिंह ने बताया कि महिला का नालागढ़ अस्पताल में पोस्टमार्टम करने के बाद शव परिजनो को सौंप दिया गया है।

.