युवाओं को आजादी का मोल समझने की जरुरत – प्रो0 धूमल प्रदेश के भूतपूर्व मुख्यमंत्री प्रो0 प्रेम कुमार धूमल ने किया तीन दिवसीय चित्र प्रदर्शनी।

युवाओं को आजादी का मोल समझने की जरुरत – प्रो0 धूमल, प्रदेश के भूतपूर्व मुख्यमंत्री प्रो0 प्रेम कुमार धूमल ने किया तीन दिवसीय चित्र प्रदर्शनी का उद्घाटन प्रदर्शनी में हिमाचल के स्वतंत्रता सेनानियों से जुड़े दुर्भल चित्र प्रदर्शित किए जा रहे हैं। कोविड बूस्टर डोज टीकाकरण कैंप के साथ कई विभागों के स्टॉल बने हुए हैं आकर्षण का केंद्र।हमीरपुर 31 अगस्त-भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अंतर्गत केंद्रीय संचार ब्यूरो (सीबीसी) के शिमला स्थित क्षेत्रीय कार्यालय द्वारा हमीरपुर के टाउन हॉल में आयोजित तीन दिवसीय चित्र प्रदर्शनी का आज प्रदेश के भूतपूर्व मुख्यमंत्री प्रो0 प्रेम कुमार धूमल ने उद्घाटन किया। धूमल ने इस दौरान प्रदर्शनी में लगे विभिन्न विभागों के स्टॉल्स का निरीक्षण किया।

प्रदर्शनी में स्वयं सहायता समूह, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला (बाल व कन्या) हमीरपुर, पोस्टल विभाग, भाषा विभाग और चुनाव आयोग ने स्टॉल्स लगाए गए हैं। धूमल ने इन विभागों के कार्यों की जानकारी ली व उनके कार्यों की सराहना की।

चित्र प्रदर्शनी में हिमाचल प्रदेश के गुमनाम स्वतंत्रता सेनानियों से जुड़े चित्र व जानकारी प्रदर्शित की जा रही है। इन चित्रों का धूमल ने अवलोकन किया। प्रदर्शनी में भारत सरकार के आठ साल मे किए गए विकास कार्यों से जुड़ी जानकारी व चित्र भी प्रदर्शित किए जा रहे हैं जिनका धूमल ने अवलोकन किया व केंद्र सरकार के कार्यों की सराहना की।

अपने संबोधन में बतौर अतिथि धूमल ने युवाओं से अपील की कि वह ज्यादा से ज्यादा मात्रा में प्रदर्शनी को देखने आएं ताकि आज की युवा पीढ़ी को स्वतंत्रता संग्राम से जुड़ी जानकारी हासिल हो सके। उन्होंने कहा कि प्रदर्शनी में हिमाचल से जुड़े स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में जो जानकारी दी जा रही है वह प्ररेणास्रोत हैै। उन्होंने युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कि आजादी का मोल युवाओं को समझने की जरुरत है और इसी मकसद के साथ केंद्र सरकार ने आजादी का अमृत महोत्सव जैसा कार्यक्रम पूरे देश में आरंभ किया है।
तीन दिवसीस प्रदर्शनी में कोविड की बूस्टर डोज के लिए मुफ्त टीकाकरण कैंप का भी आयोजन किया गया है। साथ ही प्रदर्शनी में आज आंगनवाड़ी स्कूलों के बच्चों का फैंसी ड्रेस कम्पटीशन का आयोजन भी किया गया जिसमें क्रमश: प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान अलिसा, शष्टी व वान्या ने हासिल किया।
इसके अलावा आजादी विषय पर पेंटिंग, स्लोगन क्विज प्रतियोगिताएं भी आयोजित की गईं। ये प्रतियोगिताएं तीनों दिन आयोजित की जाएंगी।