नशे के कारोबार में जो भी शामिल हो सभी पर हो कार्रवाई

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी प्रवक्ता व ठियोग से विधायक कुलदीप राठौर ने कहा कि कि नशे का कारोबार प्रदेश में काफी ज्यादा बढ़ गया है। एनआईटी जैसे संस्थान जहां काफी ज्यादा सख्ती होती है वहां भी छात्रावास तक नशा पहुंच गया है। यह अपने आप में चिंता व जांच का विषय है। शिमला में पत्रकारों से बातचीत में राठौर ने सरकार से मांग की है कि इस मामले में सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि यह कार्रवाई दिखावे के लिए नहीं बल्कि असल में होनी चाहिए ताकि नशे के तस्करों पर लगाम लगाई जा सकें। राठौर ने कहा कि नशा आज ग्रामीण क्षेत्रों में भी अपने पैर पसार चुका है। विधानसभा के मानसून सत्र में भी इस पर व्यापक चर्चा हुई थी। राज्य सरकार ने नशे पर लगाम लगाने के लिए कानून में संशोधन कर इसका प्रस्ताव मंजूरी के लिए केंद्र को भेजा है। अभी तक केंद्र से इस का कोई जवाब नहीं आया है। राठौर ने कहा कि यदि कोई बड़ा नेता भी इसमें संलिप्त है या आरोपी को बचाने की कोशिश करता है तो उस पर भी सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि राजधानी में भी पिछले कुछ समय से चिट्टे व अन्य नशे के मामलों में काफी बढ़ोतरी हुई है। यह भी चिंतनीय है, जब शिमला जो प्रदेश की राजधानी है वहीं पर नकेल नहीं कसी जा रही है तो दूर दराज क्षेत्रों में क्या हाल होगा। राठौर ने पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि अभी तक इस मामले में छोटे तस्करों को ही पकड़ा गया है। बड़ी मच्छलियां अभी पकड़ से बाहर है।

नशा आने का मुख्य स्त्रोत क्या है, कहां से नशा आ रहा है उस पर जांच कर आरोपितों को पकड़ने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि इस मामलें में केंद्रिय जांच एजेंसियों के साथ मिलकर कार्रवाई करने की जरूरत है। एक सवाल के जवाब में राठौर ने कहा कि प्रदेश के पांच राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनावों में कांग्रेस पूर्ण बहुमत से जीतेगी। उन्होंने कहा कि वह भी जल्द मध्य प्रदेश में चुनाव प्रचार के लिए जा रहें है। मुख्यमंत्री के स्वास्थ्य पर राठौर ने कहा कि उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।उम्मीद है कि जल्द वह स्वास्थ्य लाभ लेकर दोबारा प्रदेश के लोगों की सेवा करने के लिए लौटेंगे।