श्रीलंका में बजेगा हिमट्रेडिशन ब्रांड के उत्पादों का डंका

पालमपुर। जाइका वानिकी परियोजना का अपना ब्रांड हिमट्रेडिशन के उत्पादों का डंका अब पड़ोसी देश श्रीलंका में भी बजेगा। जाइका परियोजना से जुड़े स्वयं सहायता समूहों द्वारा तैयार किए गए उत्पादों को खरीद कर जाइका श्रीलंका की टीम के चेहरे प्रफुल्लित हुए। दो दिवसीय हिमाचल दौरे पर पहुंचे प्रतिनिधियों ने पालमपुर के समीप गोपालपुर मार्केटिंग आउटलैट से हिमट्रेडिशन ब्रांड के ऑर्गेनिक प्रोडक्ट्स की खरीददारी की। इस दौरान हिमाचली टोपी, शॉल, आचार, चटनी, पत्तल, बैग सहित कई अन्य उत्पादों की खूब बिक्री हुई। वीरवार को वन मंडल पालमपुर के डरोह रेंज के तहत चौपाटी महादेव भोड़ा में महिला स्वयं सहायता समूहों के साथ संवाद सत्र का आयोजन किया गया।
जाइका इंडिया की प्रोजेक्ट फॉर्मूलेशन एडवाइजर इनागाकी युकारी ने हिमाचल में हो रहे कार्यों की सराहना की। उन्होंने कहा कि हिमाचल में सफल प्रबंधन के मुताबिक जाइका वानिकी परियोजना चल रही है और श्रीलंका की टीम को दो दिनों तक  काफी कुछ सीखने को मिला। इनागाकी ने कहा कि हिमाचल में जाइका वानिकी परियोजना की सफलता की कहानी अब श्रीलंका में पढ़ी जाएगी। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में जाइका से जुड़े सभी स्वयं सहायता समूहों की मेहनत रंग ला रही है और आजीविका सुधार के साथ ही आय सृजन में सफलता मिल रही है। उन्होंने हिमट्रेडिशन ब्रांड की भी तारीफ की। संवाद सत्र के पश्चात श्रीलंका की टीम ने जयसिंहपुर रेंज के अंतर्गत नर्सरी फार्म शिवनगर का दौरा किया। इस अवसर पर मुख्य परियोजना निदेशक समीर रस्तोगी, परियोजना निदेशक श्रेष्ठा नंद, प्रोग्राम मैनेजर विनोद शर्मा, डा. कौशल्या कपूर, प्रिया, डीएफओ पालमपुर डा. संजीव शर्मा, एसीएफ ओम प्रकाश चंदेल, सेवानिवृत हिमाचल प्रदेश वन सेवा अधिकारी बीएस यादव, एसएमएस पालमपुर कृतिका शर्मा, अकाउंटेंट प्रिति वालिया, एफटीयू कॉ-ऑर्डिनेटर अनु सूद, शिवानी वालिया समेत वन विभाग और जाइका वानिकी परियोजना की टीम मौजूद रही।